Skip to Content

Languages

गुरुपूर्णिमा उत्सव बिलासपुर

Guru Poornima Utsav Bilaspur1) विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा बिलासपुर द्वारा 09/07/2017 को गुरु पूर्णिमा के दिन सुबह 10 बजे से 11:30 तक गुरु पूर्णिमा उत्सव का आयोजन विवेकानंद केंद्र कार्यालय शांति नगर बिलासपुर में किया गया था l उल्लेखनीय है क़ि बिलासपुर शाखा 2013 से विभिन्न आयोजनो के माध्यम से व्यक्ति निर्माण से राष्ट्र निर्माण में लक्ष्य को ध्यान में रख कर कार्य कर रही है । यूं तो वर्ष भर में कई पूर्णिमा आते हैं परंतु आषाढ़ मास के इस पूर्णिमा का गौरवशाली इतिहास है इसे गुरु पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है l विवेकानंद केंद्र की परंपरा के अनुसार कार्यक्रम का प्रारंभ तीन ओंकार व मंगलाचरण से हुआ, तत्पश्चात गुरु पर आधारित भजन  कोमल दीदी ने लिया । विवेकानंद केंद्र के विस्तार प्रमुख डॉ. संजय आयदे जी ने  संक्षिप्त में गुरु पूर्णिमा पर प्रकाश डाला तथा बताया कि हम सभी एकात्मा भाव से ओम को गुरु के रुप में मानते हैं ।  तत्पश्चात विवेकानंद केंद्र के विभाग संपर्क प्रमुख आदरणीय उल्हास वारे जी ने अपने विस्तृत उद्बोधन में बताया गुरुपूर्णिमा उत्सव संगठन की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण है l उन्होंने केंद्र प्रार्थना में निहित ज्ञान के तत्वों को सरल शब्दों में व्याख्या कर समझाया एवं व्यक्तित्व निर्माण में आवश्यक एवम् कार्यकर्ता के विकास हेतु करणीय बातो को बताते हुए कार्यों की प्राथमिकता तय कर जरूरी कार्य को पहले करना आवश्यक बताया । कार्यक्रम का सञ्चालन  आशुतोष शुक्ल ने किया । कार्यक्रम में कुल लगभग 30 लोग,  दायित्ववान कार्यकर्ता तथा  नगरवासी, प्रबुद्धजन आदि उपस्थित थे ।

2) संस्कार वर्ग में गुरुपूर्णिमा: बिलासपुर के राजेंद्र नगर के साप्ताहिक संस्कार वर्ग में 8/7/17 को गुरुपूर्णिमा उत्सव मनाया गया । कुल " उपस्थिति लगभग 80" (अस्सी) रही । संस्कार वर्ग के प्रारम्भ में गुरु पूर्णिमा मनाई गयी, जिसका प्रारम्भ ॐ की प्रतिमा के सामने दीप प्रज्ज्वलित करके 3 ओमकार व मंगलाचरण से हुआ । इसके उपरांत संस्कार वर्ग का मासिक गीत बच्चे अच्छे से लयपूर्वक गाये । इसके बाद युगल भैया के पीछे बच्चों ने "गुरुस्तोत्र" की तीन पंक्तिया  दोहराया । गुरुपूर्णिमा का महत्व बताते हुए आशुतोष भैया ने कहा संगठन में हम दिव्य भाव से ॐ को गुरु मानते हैं साथ ही केंद्र परिचय बताकर ॐ रूपी "एक प्रतीकात्मक गुरु" की आवश्यकता समझाया l इसके बाद सामान्य रूप से हर बार की तरह संस्कार वर्ग चला जिसमे आज्ञा अभ्यास, खेल, गीत, कहानी हुआ ।

3) आगामी -- संस्कार वर्ग में आगामी गुरुवार 13 जुलाई को संध्या 5:30 से 6:30 बजे तक गुरु पूर्णिमा मनायी जायेगी ।

4) आगामी -- नया कार्य स्थान कोरबा में 21 जुलाई को सम्भावित समय संध्या 7 - 8 बजे मनायी जायेगी, जिसमे मध्य प्रान्त संगठक मा. सुश्री रचना दीदी की विशेष गरिमामयी उपस्थिति एवम मार्गदर्शन प्राप्त होगा तथा विभाग सम्पर्क प्रमुख आ. डॉ. उल्हास वारे जी का भी सानिध्य प्राप्त होगा ।