Skip to Content

Languages

Madhya Pradesh

रचनात्मकता द्वारा नई शताब्दी की ओर... भारत जागो। विश्व जगाओ।।

Sense impression March 2012 - the creativity of the new century ... Wake up India. Wake the Worldविवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमरी शाखा इन्दौर कि और से व्याख्यान   रचनात्मकता द्वारा नई शताब्दी की ओर... भारत जागो। विश्व जगाओ।।  व्याख्यान २८ मार्च २०१२ को इन्दौर मे रखा गया ।  मुख्य वक्ता मा. श्री मुकुलजी ने स्वामी विवेकानन्द के जीवन कि घटनाओं को रखते हुए बताया कि भारत जागो याने भारत को समर्थ बनाना होंगा, भारत सभी {¨त्र मे मार्गदर्शन करे और इसिलिये स्वामी विवेकानन्द का सार्ध शती समारोह वर्ष (१५० वी जयंती) हमारे लिये अवसर है. मुकुलजी ने यह भी बताया कि आज विश्व जिस द्रुष्टी से भारत को  देख रहा है उसे भारत को समझना होंगा, पश्चिम का प्रारंभ यह भौतिक्तासे हुआ और आज उसका अंत यह आध्यत्मिक्ता से होंगा, विश्व तो जगा है हमे अभी स्वयं को जगाना है, भारत मे सबसे अधिक वर्ग मध्यम वर्गी है और वह सांस्क्रुतिक रक्षा करता है,। उन्होंने यहभी बतायाकी भारत ने हमेशा युनिटी  कि बात कि है न कि युनिफ़ोर्मीटी, स्वामीजी के लाहोर  के व्यख्यान का उल्लेख करते हुये मुकुलजी ने बताया कि किस तरह स्वामीजी ने सभी पथों के लोगों को संघटीत किया और उसी विचार को लेकर विवेकानन्द सार्ध शती समारोह वर्ष को मनया जायेगा अर्थात बिखरी हुई आध्यात्मिक शक्ति को एकत्रित करना होगा।

विवेक विचार : आंतरिक सुरक्षा : बढ़ते ख़तरे और हमारी तैयारियाँ

Shri Dipak Chakravarty, MD, NRL inaugurating the NRL Conference Hall at the VKICआई.बी. के पूर्व प्रमुख तथा विवेकानन्द इंटरनेशनल फाउण्डेशन के निदेशक श्री अजीत ङोवाल ने कहा है कि आज आंतरिक सुरक्षा देश के लिये प्रमुख समस्या बन गई है पर उससे निपटने के लिए हमारी जैसी तैयारियां होनी चाहिए उसका अभाव है उन्होने कहा कि सांस्कृतिक एवं एतिहासिक जड़ों पर कुठाराघात करके न तो देश को सुरक्षित किया जा सकता है और न ही सबल राष्ट्र की संकल्पना की जा सकती है ।

रचनात्मकता द्वारा नई शताब्दी की ओर...भारत जागो। विश्व जगाओ।।

28/03/2012 20:00
28/03/2012 21:00
Asia/Calcutta

रचनात्मकता द्वारा नई शताब्दी की ओर...

भारत जागो। विश्व जगाओ।।

विषय पर आयोजित व्याख्यान में विचारों के आदान-प्रदान हेतु आप अपने इष्ट मित्रों सहित सादर आमंत्रित है ।

मुख्य वक्ता : मा. मुकुल कानिटकर, जीवनव्रती, विवेकानंद केन्द्र

विवेक विचार : आंतरिक सुरक्षा : बढ़ते ख़तरे और हमारी तैयारियाँ

24/03/2012 17:00
Asia/Calcutta

विवेकानन्द केंद्र शाखा भोपाल द्वारा अति महत्वपूर्ण व्याख्यान "विवेक विचार" वार्षिक विशेषांक आगामी 24 मार्च शनिवार को शहीद भवन ( विधायक विश्राम गृह के पास ) भोपाल में सायं 5 बजे  आयोजित किया गया है।

Vijay Hi Vijay Mahashivir a Grand Programme at Barak Valley, Assam, India.

Rajsthan, Gujarat, Maharastra, Madhya Pradesh, Tamilnadu, Arunachal Pradesh, Lower Assam now..Vijay Hi Vijay Mahashivir a Grand Programme at Barak Valley, Assam, India.

Syndicate content