Skip to Content

Languages

Rajasthan

International Yoga Day Celebration Rajasthan Prant 2018

International Yoga Day Celebration Rajasthan Prantइस वर्ष राजस्थान प्रान्त में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सभी नगरों में आयोजन किए गए। कुछ नगरों में इस दिन पूर्व में संचालित योग सत्रों का समापन हुआ एवं कुछ नगरों में योग दिवस का

International Yoga Day Ajmer

International Yoga Day Ajmer1100 लोगों के साथ 14 स्थानों पर हुआ योग

अंतराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग अभ्यास क्रम का विमोचन अजमेर

Courses offered on International Yoga Dayस्वामी विवेकानन्द ने योग एवं वेदांत के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य किया तथा अपने दर्शन के माध्यम से मुक्ति के चार मार्ग कर्म, ज्ञान, भक्ति एवं राजयोग का संपूर्ण मानव जाति को संदेश दिया।  योग से केवल शारीरिक ही नहीं मानसिक, बौद्धिक, भावनात्मक एवं आध्यात्मिक विकास संभव है। विवेकानन्द केन्द्र विगत 46 वर्षों से योग के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रहा है।

Yoga Prashikshan Satra

Yoga Satra in Ajmerअजमेर ! उत्साह, साहस, धैर्य, तत्वज्ञान एवं दृढ़निश्चय योग के साधक तत्व माने गए हैं और इनसे ही योग की साधना संभव है। आलस्य, व्याधि, संशय, प्रमाद, अविरति, भ्रांति दर्शन ये सभी योग के विक्षेप कहे जाते हैं।

Sanskaar Varga Prashikshan Shibir - Ajmer

Sanskar Verg Prashikshak prashikshan Shibirविवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी एक आध्यात्म प्रेरित सेवा संगठन है जो अपनी विशिष्ठ कार्यपद्धति योग, स्वाध्याय और संस्कार के माध्यम से ‘मनुष्य निर्माण से राष्ट्र पुनरुत्थान’ के कार्य में अपनी 874 शाखाओं के साथ अखिल भारतीय स्तर पर सक्रिय रुप से विगत 46 वर्ष से कार्य कर रहा है।

मैदानी खेल कार्यशाला @अजमेर

विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा अजमेर द्वारा लायनेस क्लब अजमेर सर्व उमंग के सहयोग से 8 से 16 वर्ष के आयु के बालक बालिकाओं के लिए मैदानी खेल कार्यशाला  का आरम्भ हुआ।

वर्ष २०१७-२०१८ मे प्रकाशित पुस्तके

स्वामी विवेकानन्दजी के विचारों को समाज जीवन में प्रसारित करने के लिए विवेकानन्द केन्द्र की ओर से देश के विभिन्न राज्यों में प्रकाशन विभाग कार्यरत हैं। इन प्रकाशन विभागों के द्वारा अनेक भाषाओं में साहित्य प्रकाशित किये जाते हैं। साथ ही Utility अर्थात उपयोगी उपहार वस्तुओं जैसे डायरी, कैलेंडर्स, पोस्टर्स तैयार किये जाते हैं।
इस क्रम में प्रस्तुत है अपने प्रकाशन विभाग का रिपोर्ट।
1) विवेकानन्द केन्द्र प्रकाशन ट्रस्ट (VKPT), चेन्नई (तमिलनाडु), जहाँ अंग्रेजी तथा तमिल भाषा में पुस्तकें प्रकाशित होती हैं।
2) विवेकानन्द केन्द्र हिन्दी प्रकाशन विभाग, जोधपुर (राजस्थान)।

एकनाथजी फिल्म से हुआ राष्ट्रभक्ति का संचार

विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी के संस्थापक माननीय एकनाथजी के जीवन चरित्र का हुआ जीवन्त प्रदर्शन 

प्रो0 वासुदेव देवनानी एवं अनिता भदेल सहित शहर के गणमान्य जनप्रतिनिधियों एवं सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने पूरे दो घण्टे तक हॉल में देखी फिल्म

Syndicate content