Skip to Content

Languages

Rajasthan

परिपोषक सम्मेलन : अजमेर

patronहमारे देश में कहीं भी विविधता नहीं है अपितु एकता ही दिखाई देती है। भारतीय संकल्पना ही कर्म के माध्यम से ईश्वर को प्राप्त करने की है और यह कर्म यदि कहीं एकात्मता से किया जा सकता है तो वह विवेकानन्द केन्द्र ही है। ईश्वर प्राप्ति की दिशा में पहला कदम स्वयं को जानना है और स्वयं को जानने के उपरांत राष्टं की संकल्पना समझ में जा सकती है और उसी से हमें धर्म की सही परिभाषा का ज्ञान हो सकता है। प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में एक ध्येय होना चाहिए

राजस्थान प्रांत की गतिविधियाँ

विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी, शाखा - भीलवाड़ा: 20 मार्च को मेवाड़ चेम्बर डवलमेन्ट ट्रस्ट एवं विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी शाखा - भीलवाड़ा की ओर से आयोजित कार्यक्रम में मुख्य वक्ता माननीय निवेदिता दीदी ने भीलवाड़ा शहर के प्रसिद्ध युवा उद्योगपतियों के बीच में ‘व्यावहारिक जीवन में आध्यात्मिक दृष्टिकोण’ इस विषय पर बोलते हुए बताया कि अगर जीवन में (1) समत्व यानि आत्मभाव में स्थित रहना, भावनात्मक से भी अधिक आध्यात्मिक बनना। (2) सन्तोष अर्थात् आनन्द प्राप्त करना। (3) सर्वसमावेशक अर्थात् सबको जोड़ने वाला एवं पूर्णत्व की ओर जाने वाला। (4) संयम अर्थात् फायदे के लिए देश, समाज को नुक

Karyakarta Samelan at Jodhpur

In Jodhpur as a part of Mananeeya Ekanthji Janma Shati Parva, Karyakarta Samelan is organized in presence of Kum. Rekha Dave, Joint General Secretary of Vivekananda Kendra.

विविधता के समन्वय का आदर्श भारत- गुणवन्त कोठारी

किसी भी सभ्यता में विविध संप्रदाय, भाषा, शिक्षा, पंथ, जाति भिन्नता और पूजा पद्धति की विविधता के बीच समन्वय कैसे रखा जाता है यह दुनिया में केवल भारत देश से ही सीखा जा सकता है क्योंकि भारत ने ही यह आदर

Utho jago yuva shibir Rajasthan

Vivekananda kendra kanyakumari Rajasthan Prant organized Utho Jago Yuva Perrana Shivir at Shri Dadu palka, Fulera ( Jaipur), 01 to 05 October 2014. There were total 267 youth participated in the camp.

चरित्र निर्माण एवं त्यागवृत्ति से ही विश्वबंधुत्व संभव

स्वामी विवेकानन्द के शिकागो धर्मसम्मेलन में प्रथम उद्बोधन की वर्षगांठ पर विश्वबंधुत्व दिवस का अजमेर में आयोजन किया गया। विश्वबंधुत्व की संकल्पना को केवल चरित्र की उच्चता एवं त्यागवृत्ति के आचरण से ही साकार किया जा सकता

जयपुर में युवा विमर्श

विवेकानंद केंद्र जयपुर की ओर से विश्व बंधुत्व दिवस पर कल जयपुर के रामकृष्ण मिशन सभागार में युवा विमर्श कार्यक्रम संपन्न हुआ। संघर्श से शिखर तक विषय पर आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य  अतिथि भारतीय प्रशासनिक सेवा के यु

Syndicate content